यह युद्धक्षेत्र है: विराट रूप धर ले तू!

Posted: August 2, 2018

सदियों से औरत को अबला माना गया है, मगर अब और नहीं! वक़्त आ गया है अपने अंदर की शक्ति को पहचानने का, उस सोई शक्ति को, ललकार कर, दहाड़ कर जगाने का!

तू ठान ले , तू मान ले

बुझी हुई मशाल ले

तू आग है, तू लौ दिखा,

ये तेज अपना ना छुपा

सिमट नहीं, उड़ान भर-

तू युद्धक्षेत्र में उतर!

 

साहस का तेरे वध किया

निशब्द घोषित किया

छंदों में अलंकृत किया

अधिकारों से वंचित किया

अनीति का तू अंत कर-

तू युध्क्षेत्र में उतर!

 

समाज ने बनावटी, लगायी तुझ पे बेड़ियाँ

सैंकड़ो बलि चढ़ी हैं, कितनी वीर बेटियाँ

न हो सका तेरा उदय

लहू बना तेरा ह्रदय

त्रिशूल धार, प्रहार कर-

तू युध्क्षेत्र में उतर!

 

प्रतिमा बन मठ में सजी

प्रथा-युक्ति घर में जली

विराट रूप धर ले तू

सिंहनाद भर ले तू

दुर्गा स्वरुप सिद्ध कर-

तू युद्धक्षेत्र में उतर!

मूल चित्र: No One Killed Jessica movie से 

Writer, marketer, foodie, traveler and amateur photographer, Indrakshi is always on a lookout for new

और जानें

Salman Khan is all set to romance Alia Bhatt!

Comments

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

NOVEMBER's Best New Books by Women Authors!

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

A Chance To Celebrate