एक वीरांगना – लीनी की याद में

Posted: August 30, 2018

कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अपनों की ख़ुशी के साथ-साथ, समाज के प्रति भी अपना धर्म बख़ूबी निभाते हैं। ऐसी ही एक वीरांगना थी लीनी। 

आज कुछ नहीं लिखना। शायद लिख भी नहीं सकूँगी। कोई कहानी नहीं, कोई कविता नहीं। आज बस एक सोच है, जिसे लिख कर शायद मेरा मन हल्का हो जाए। सुबह एक नर्स “लीनी” या कहूँ कि एक वीरांगना के बारे में पढ़ा, जो निपाह के मरीज़ों का इलाज करते हुए शहीद हो गयी। और क्या नाम दूं मैं इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना को। मैं नहीं जानती कि निपाह कौन सी ऐसी बीमारी है जिससे 48 घंट मे 10 से भी ज़्यादा लोगों ने अपनी जान गँवा दी। पर, वो जानती थी।

वो सिर्फ़ 31 साल की थी। माँ भी थी वो। कैसे इतनी हिम्मत की होगी उसने कि अपना स्वार्थ भूल कर औरों के लिए लड़ गयी। इस बार वो मौत से लड़ रही थी। उसे पता चल गया था कि अब उसका समय आ गया है। उसने एक चिट्ठी भी लिखी अपने पति के नाम।

क्या उसके मन में नहीं आया होगा कि वो सब कुछ लिख दे, जो अपने परिवार को कहना चाहती है? अपने पति को कि खाना समय पर खाना। रुमाल ले जाना मत भूलना। कौन क्या खाता है। छोटा बेटा रोएगा तो कैसे संभालना है। दोनों बच्चे ज़िद करेंगे तो कैसे चुप करना है। खाने में मिर्च कितनी कम-ज़्यादा करनी है। किसी भी बात से ना माने तो क्या दे कर बहलाना है। स्कूल यूनिफॉर्म कब धोनी है। गर्म पानी से नहलाना है या ठंडे से। कितने बजे सुलाना है। कब उठाना है। रात को कौन सी कहानी सुनानी है।

आज पहली बारआँखें इतनी नाम हैं। पर ये लिखने में भी मेरा ही स्वार्थ है कि मेरा मन हल्का हो जाए कैसे भी।
जहाँ मेरे जैसे लोग भी हैं जो हर छोटी बात से परेशान हो जाते हैं, वहाँ ऐसे भी लोग हैं जो अपने परिवार और बच्चों के लिए तो सब कुछ खुशी-खुशी करते ही हैं, साथ में समाज के प्रति भी अपना फ़र्ज़ निभाते हैं। उन्हें बहाने बनाने नहीं आते। आता है तो बस सबको प्यार करना। सबका ध्यान रखना।

आप आज जहाँ भी होंगी, मैं जानती हूँ कि उस जगह को बेहतर बना ही लेंगी। काश, मैं बस जा के आपके बच्चों को देख पाती और उन्हें कह पाती कि उनकी माँ बहुत-बहुत बहादुर थी।

Kerala Nurse Dies While Treating Nipah Patients, Moves Nation with Final Words

##RIPAngelLini 

An ordinary girl who dreams

और जाने

डिप्रेशन के लक्षण - What is depression, what are the symptoms & self care explained in Hindi

टिप्पणी

अपने विचारों को साझा करें, विनम्रता से (व्यक्तिगत हमला न करें! वेबसाइट के नीची भाग में पूरी टिप्पणी नीति पढ़ें |)

अपना ईमेल पता दर्ज करें - हर हफ्ते हम आपको दिलचस्प लेख भेजेंगे!

क्या आपको भी चाय पसंद है ?