यह युद्धक्षेत्र है: विराट रूप धर ले तू!

Posted: August 2, 2018

सदियों से औरत को अबला माना गया है, मगर अब और नहीं! वक़्त आ गया है अपने अंदर की शक्ति को पहचानने का, उस सोई शक्ति को, ललकार कर, दहाड़ कर जगाने का!

तू ठान ले , तू मान ले

बुझी हुई मशाल ले

तू आग है, तू लौ दिखा,

ये तेज अपना ना छुपा

सिमट नहीं, उड़ान भर-

तू युद्धक्षेत्र में उतर!

 

साहस का तेरे वध किया

निशब्द घोषित किया

छंदों में अलंकृत किया

अधिकारों से वंचित किया

अनीति का तू अंत कर-

तू युध्क्षेत्र में उतर!

 

समाज ने बनावटी, लगायी तुझ पे बेड़ियाँ

सैंकड़ो बलि चढ़ी हैं, कितनी वीर बेटियाँ

न हो सका तेरा उदय

लहू बना तेरा ह्रदय

त्रिशूल धार, प्रहार कर-

तू युध्क्षेत्र में उतर!

 

प्रतिमा बन मठ में सजी

प्रथा-युक्ति घर में जली

विराट रूप धर ले तू

सिंहनाद भर ले तू

दुर्गा स्वरुप सिद्ध कर-

तू युद्धक्षेत्र में उतर!

मूल चित्र: No One Killed Jessica movie से 

पसंद आया यह लेख?

विमेन्सवेब एक खुला मंच है, जो विविध विचारों को प्रकाशित करता है। इस लेख में प्रकट किये गए विचार लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं जो ज़रुरी नहीं की इस मंच की सोच को प्रतिबिम्बित करते हो।यदि आपके संपूरक या भिन्न विचार हों  तो आप भी विमेन्स वेब के लिए लिख सकते हैं।

विमेन्सवेब के सारे दिलचस्प हिंदी लेख अपने ईमेल इनबॉक्स में पाइये! बस इस फॉर्म में अपना ईमेल एड्रेस भरें!

Writer, marketer, foodie, traveler and amateur photographer, Indrakshi is always on a lookout for new

Learn More

VIDEO OF THE WEEK

Comments

Share your thoughts! [Be civil. No personal attacks. Longer comment policy in our footer!]

Feminist Book Picks

Stay updated with our Weekly Newsletter or Daily Summary - or both!

An Event For Ambitious Women!